अब मशीन बताएगी इतने दिन के बाद डालिए खाद,पानी

कृषि-अब यंत्र से किसान को जानकारी होगी,खेत में पानी कम हो गया है, इतने दिन बाद खाद का पालन करें |
अक्सर हम किसानों की आमदनी बढ़ाने के लिए इजरायल की खेती का उदाहरण देते हैं. हरियाणा के अधिकारियों की ओर से भी दावा तैयार किया जाता है कि वे ऐसी तकनीक अपनाएंगे जो इज़राइल में अपनाई जाती है। लेकिन हरियाणा के अंबाला के रहने वाले विशाल भंडारी ने सिंचाई में हेराफेरी का एकदम अनोखा औजार बनाया है. ये डिवाइस इजरायल की तकनीक के हैं, हालांकि इसकी कीमत इजरायल से 4 गुना सस्ती है। विशाल भंडारी का यह उपकरण किसानों के लिए भी सही है क्योंकि यदि आप इसे खेत में अभ्यास करेंगे तो सिंचाई की चिंता दूर हो जाएगी।

खेत खलिहान-अब यंत्र से किसान को जानकारी होगी,खेत में पानी कम हो गया है,


डिवाइस को अंबाला निवासी विशाल भंडारी की मदद से बनाया गया है। हिसार में चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय की प्रदर्शनी में विशाल ने अपने सिस्टम को जोड़ा था।खेत खलिहान जहां हम सभी ने विशाल की तारीफ की. मशीन की खासियत यह है कि इसमें सेंसर लगे होते हैं। उदाहरण के लिए, जैसे ही पौधे की नमी कम हो जाती है, मशीन यांत्रिक रूप से चालू हो जाएगी और विषय के अंदर सिंचाई शुरू हो जाएगी। इसके अलावा आप इसकी टाइमिंग मोबाइल से भी सेट कर सकते हैं।

RS-InfoTech
RS-InfoTech

इज़राइल की तुलना में मशीन कम खर्चीली है

खेत खलिहान मशीन का निर्माण करने वाले विशाल भंडारी का इंजीनियरिंग बैकग्राउंड है। विशाल बताते हैं कि इजराइल में जैसे कम पानी में बेहतर खेती होती है, इसी को ध्यान में रखते हुए इस डिवाइस को बनाया गया है। विशाल भंडारी के जरिए बनाया गया यह डिवाइस इजराइल के मुकाबले काफी सस्ता है।खेत खलिहान विशाल के मुताबिक इस सिस्टम की फीस सबसे ज्यादा 10 हजार के आसपास है। जबकि इजराइल में यह मशीन काफी महंगी हो सकती है।

यह उपकरण मिट्टी की पेंटिंग भी आजमा रहा है
इस प्रणाली से मृदा परीक्षण भी पूरा किया जा सकता है। किसानों के खेतों के अंदर कौन से विटामिन की कमी है, किसान खुद भी इस विषय में इसकी जांच करेंगे। यानी खेत में कितनी खाद डालनी है, यह भी मिट्टी परीक्षण के बाद ही पता चलेगा।

More Update