प्लास्टिक की थैलियों, बोतलों से बनाए जाते हैं जूते

Shoes-प्लास्टिक की थैलियों और बोतलों से होने वाली पर्यावरणीय तबाही से दुनिया का हर बच्चा अवगत है। इसके बावजूद बड़े बच्चे दूध की थैली के लिए भी पॉलीथिन की मांग करने से नहीं हिचकिचाते। ऐसे में अगली पीढ़ी के कुछ पर्यावरण से जुड़े सदस्य पर्यावरण संरक्षण का बोझ उठा रहे हैं। धरती को प्लास्टिक मुक्त बनाने का जिम्मा कंधों पर ले लिया है। 23 वर्षीय उद्यमी आशा भावे ने जुलाई 2021 में थैले की स्थापना की। पाउच फर्म के अनुसार, जूते (Shoes) की एक जोड़ी 10 प्लास्टिक बैग और 12 प्लास्टिक की बोतलों से बनाई जाती है। प्रतीश ने बिजनेस इनसाइडर को बताया कि उनकी कंपनी दुनिया भर के लोगों के साथ-साथ पर्यावरण को भी जूते मुहैया कराती है। मुनाफा हो रहा है।

Thaely: 23 साल के भारतीय युवा का स्टार्टअप, प्लास्टिक की थैलियों, बोतलों से बनाए जाते हैं जूते
Thaely: 23 साल के भारतीय युवा का स्टार्टअप, प्लास्टिक की थैलियों, बोतलों से बनाए जाते हैं जूते (From Google)

प्लास्टिक के जूते कैसे बनाएं

कचरा हटाने वाली कंपनी ट्रायोटैप टेक्नोलॉजीज प्लास्टिक बैग मुहैया कराती है। प्लास्टिक के कचरे को साफ करके गर्म पानी में सुखाया जाता है। हीटिंग तकनीक “थेलीटेक्स” के लिए बैग का उत्पादन करती है। यह पूरी तरह से प्लास्टिक की थैलियों से बना एक पदार्थ है जिसमें कोई रसायन नहीं होता है। उसके बाद जूते (Shoes) बनाने के लिए प्लास्टिक के कचरे का इस्तेमाल किया जाता है। इतना ही नहीं, जूतों के डिजाइन और फीते भी रिसाइकिल प्लास्टिक की बोतलों से बनाए जाते हैं।

More Updates